- Advertisment -
HomeLatest News and Updatesजिन दलों ने इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन का परीक्षण किया वे भी चुनाव...

जिन दलों ने इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन का परीक्षण किया वे भी चुनाव जीत गए – मुख्य चुनाव आयुक्त NS News

- Advertisment -
- Advertisement -

from NS News,


मुख्य चुनाव आयुक्त राजीव कुमार ने जवाब दिया कि इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन की विश्वसनीयता पर सवाल उठाने वाली पार्टियों ने भी इन्हीं मशीनों के जरिए चुनाव जीता था.

मुख्य निर्वाचन आयुक्त राजीव कुमार ने इन आरोपों पर प्रतिक्रिया दी है कि इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन के साथ कोई भी आसानी से छेड़छाड़ कर सकता है।

अगर इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों में बोलने की क्षमता होती तो.. वे अपने आरोप लगाने वालों को बताते कि जीतने के लिए उन्होंने क्या किया। जनप्रतिनिधित्व अधिनियम के तहत इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन लागू हुई। कानून को लागू करना चुनाव आयोग का काम है। सुप्रीम कोर्ट सहित कई अदालती फैसलों में इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों के इस्तेमाल का समर्थन किया गया है। ईवीएम पर दायर जनहित याचिकाओं को जुर्माने के साथ रद्द किया जाता है।

पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने भी राजनीतिक दलों द्वारा इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन के इस्तेमाल की निंदा की। चुनाव आयोग ने अतीत में इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन का इस्तेमाल कर जीत हासिल करने वाले विपक्षी दलों की सूची अखबारों में विज्ञापन के तौर पर प्रकाशित की है।

‘वीवीआईपीओडी’ नामक एक वोट रसीद डिवाइस को इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन के साथ 36,000 बार लगाया गया और हर बार परीक्षण सफल रहा। यह इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन की दक्षता का प्रमाण है।

‘दूरस्थ’ मतदान प्रक्रिया में है। लोकतंत्र में निर्णय लेना कोई आसान काम नहीं है। हर चीज में थोड़ा समय लगता है। राजीव कुमार ने कहा कि सर्वदलीय बैठक का सफल नतीजा निकला.

- Advertisement -
Latest News & Updates
- Advertisment -

Today Random News & Updates