- Advertisment -
HomeLatest News and Updatesबाल मजदूर कार सर्विस सेंटर पर कार्रवाई, 2 बाल मजदूर रिहा ...

बाल मजदूर कार सर्विस सेंटर पर कार्रवाई, 2 बाल मजदूर रिहा NS News

- Advertisment -
- Advertisement -

from NS News,

वर्धा। किसी भी प्रतिष्ठान में बाल श्रमिक को काम पर लगाना कानूनन अपराध है, फिर भी कई प्रतिष्ठानों, चाय की दुकानों आदि में बाल मजदूर काम करते पाए जाते हैं। यहां काम कर रहे दो बाल मजदूरों को छोड़ दिया गया। इस मामले में सेवा केंद्र संचालकों के खिलाफ मामला दर्ज करने की कार्रवाई की गई है।

जानकारी के आधार पर गुरुवार की दोपहर महिला एवं बाल कल्याण विभाग, स्वास्थ्य विभाग, पुलिस, शासकीय श्रम पदाधिकारी व चाइल्ड लाइन कृति दल समिति ने संयुक्त अभियान चला कर गत दिवस यूनिक कार केयर सेंटर में दो बाल श्रमिक कार्य कर रहे थे. यह सुनते ही छापामारों ने गुरुवार सुबह कार्रवाई की।

एक 13 वर्षीय और दूसरा 15 वर्षीय बाल श्रमिक के रूप में काम करते पाए गए, और दोनों लड़कों को महिला एवं बाल कल्याण विभाग के अधिकारियों ने हिरासत में ले लिया और शहर पुलिस स्टेशन को सौंप दिया। चिकित्सकीय रूप से दोनों लड़कों को बाल कल्याण समिति को सौंप दिया गया।

बच्चों का मेडिकल परीक्षण

बच्चों का मेडिकल परीक्षण कराया गया। शाम तक कार सर्विस सेंटर के संचालकों के खिलाफ मामला दर्ज करने की कार्रवाई की जा रही है.बाल संरक्षण अधिकारी महेश कामड़ी, जिला समन्वयक आशीष मोदक, चाइल्ड लाइन की रीना पोरेट, दुकान निरीक्षक महेंद्र साकले, मदन पडवाल, स्वास्थ्य विभाग के डॉ. प्रवीण धमाने, डॉ. चकोर रोकड़े, पुलिसकर्मी शिवदास डोयफोड, पैथोलॉजिस्ट अंकुश कंचनपुरे, वैज्ञानिक प्रयोगशाला अधिकारी, सूरज वानखेड़े, पुरुषोत्तम कांबले, प्रदीप वानकर, जयश्री निवाल, माधुरी शंभरकर, अमर पाटिल और अन्य ने इस प्रकार की चाइल्ड लाइन के लिए अभियान चलाया है। ऐसी जानकारी बाल संरक्षण अधिकारी ने दी।

- Advertisement -
Latest News & Updates
- Advertisment -

Today Random News & Updates