- Advertisment -
HomeLatest News and Updatesबिक्री के लिए संपत्तियों को खोजने के लिए एक केंद्र NS News

बिक्री के लिए संपत्तियों को खोजने के लिए एक केंद्र NS News

- Advertisment -
- Advertisement -

from NS News,

केंद्र सरकार ने संबंधित मंत्रालयों से यह देखने को कहा है कि क्या उनके दायरे में आने वाली संपत्तियों से आय के स्रोत हैं। केंद्र सरकार ऐसी संपत्तियों का मुद्रीकरण करके राजस्व उत्पन्न करना चाह रही है। केंद्र ने संबंधित विभागों को चालू वित्त वर्ष में निर्धारित लक्ष्य को हासिल करने के लिए सभी संभावनाएं तलाशने को कहा है। केंद्र सरकार ने बजट में एसेट मोनेटाइजेशन के जरिए 1 लाख 62 हजार 422 करोड़ रुपए जुटाने का लक्ष्य रखा है। सरकारी संपत्तियों की बिक्री का देश के सभी वर्गों, विशेषकर श्रमिक संघों द्वारा कड़ा विरोध किया जा रहा है। राजनीतिक दल भी केंद्र सरकार के इस रवैये को गलत मानते हैं।

चालू वित्त वर्ष में, सरकार ने राष्ट्रीय मुद्रीकरण पाइपलाइन (NMP) के तहत 33,422 करोड़ की संपत्ति का मुद्रीकरण किया है। इसमें कोल सेक्टर 17 हजार करोड़ के साथ सबसे आगे है। कुछ मंत्रालय अपने लक्ष्यों को प्राप्त करने में विफल रहे हैं। वित्तीय वर्ष 2022-23 में संपत्ति मुद्रीकरण के माध्यम से 1,62,422 करोड़ रुपये जुटाने का लक्ष्य रखा गया है। अभी तक इसने सिर्फ 33,422 करोड़ रुपए ही बटोरे हैं। 2021-22 में 88 हजार करोड़, लेकिन 1 लाख करोड़ का संग्रह हुआ है। रेलवे और दूरसंचार विभागों ने मुद्रीकरण प्रक्रिया को अगले साल तक के लिए टालने का फैसला किया है। वित्तीय पेशेवरों को संपत्ति बेचकर धन जुटाने में बांटा गया है। कुछ विशेषज्ञों ने चेतावनी दी है कि यह देश के लिए अच्छा नहीं है।

- Advertisement -
Latest News & Updates
- Advertisment -

Today Random News & Updates